SHINZO ABE : मोदी के दोस्त को बड़ा सम्मान जानिए कौन है शिंजो आबे ?

अमेरिका ने जापान के जिस राजनेता को साडे 3 साल तक कैदी बनाकर रखा उसके नातिन जापान पर सबसे लंबे वक्त तक राज किया पीएम मोदी के दोस्त और जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे के भारत के साथ रिश्तो को पक्का रखने और अपने अतुलनीय योगदान की वजह से भारत में गणतंत्र दिवस के मौके पर उन्हें दूसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पद्मा विभूषण देने का ऐलान किया

गणतंत्र दिवस 2021 में तो भारत में कोई भी विदेशी मेहमान गणतंत्र के दिवस के मौके पर चीफ गेस्ट बनकर नहीं आया लेकिन शिंजो आबे जापान के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो जिन्होंने गणतंत्र दिवस के मौके पर चीफ गेस्ट बंद कर भारत भी आए और इसके अलावा शिंजो आबे कई बार भारत आए हैं हालांकि 2001 से भारत और जापान के रिश्ते मजबूत होने शुरू हुए लेकिन 2012 में जब दूसरी बार प्रधानमंत्री जापान में सत्ता पर स्थापित हुए तब उन्होंने भारत और जापान के रिश्तो को और भी मजबूत करने की कोशिश की

सबसे चर्चित समझौते में से एक रहा है फ्री और ओपन इंडो पेसिफिक का फैसला इसकी शुरुआत के लिए सबसे पहले शिंजो आबे भारत आए थे तो उन्होंने दो महासागरों को संगम की बात कर भारत का दिल जीत लिया था उसके बाद भारत में सरकार बदल गई लेकिन दो देशों के बीच दोस्ती उसी समर्पण पर टिकी रही उसके बाद दोनों देशों के बीच नागरिक परमाणु ऊर्जा समुद्री सुरक्षा बुलेट ट्रेन act East policy और इंडोपेसिफिक पॉलिसी नीति जैसे कई मुद्दों पर काम किया गया